ओरिजिनल सिर्फ एक है

साहेब बीबी गुलाम

फिर से बनाने की सोच रहा था

हर चरित्र के लिए कलाकार मिल गये

न मिली बीबी

गाइड का राजू तो मिल गया

न मिली रोज़ी

बहुतेरे देवदास आये

न मिला युसूफ

फिर से दीवार बनाने की तमन्ना थी

एक परेशानी थी

विजय का किरदार कौन निभायेगा

शायद कुछ चरित्र कुछ ही कलाकारों के लिए लिखे जाते हैं

शायद हर ओरिजिनल का रीमेक नहीं बनता है

रीमेक की होड़ लगी है

ओरिजिनल सिर्फ एक है