एक अँधेरे से दूसरे तक की कहानी

अँधेरा था

थोड़ी देर के लिए

उजाला हुआ

फिर अँधेरा हो जायेगा

बत्ती जलाने- बुझाने वाला

बैठा है अँधेरे में

डरता है

उजाले में आने से

  • White Facebook Icon
  • White Twitter Icon

© 2017 by Dr Purnendu Ghosh