मुसाफिर

एक अनिश्चित पथिक

जिसकी प्रतिस्पर्धा में कोई नहीं

जिसके लिये पूर्णता का कोई अर्थ नहीं

जो समय की गहराई से असंबद्ध

जानता है, समय का, है कोई अपना नहीं

देखता है जानुस की तरह

भूत और भविष्य, समय के एक ही ढाँचे में

दृष्टि के एक ही चित्रमाला में

न्यूरल मशीन द्वारा संचालित

एक समय यात्री

न्यूरल मशीन

जिसका अंत निश्चित करता है