टूटी खिड़कियां

क्या सही है, क्या ग़लत है

सहयोग या प्रतिस्पर्धा

क्या निश्चित करती है

क्रमागत विकास की प्रक्रिया

यादृच्छिक उत्परिवर्तन की घटनाएँ, या

नवीनता की अंतर्निहित प्रवृत्ति

क्या सही है, क्या गलत है

कहना मुश्किल है

सहकारिता उतनी ही जरूरी है

जितनी प्रतिस्पर्धा

तैराकी जीतने के लिए तैरता है

जीतने के बाद

तैरता है, तैरने के लिये

सक्षम की सक्षमता

प्रतिस्पर्धी की उपस्थिति में ही जगती है

टूटी खिड़कियां देखते ही

अपराधी मन भागता है

अपराध की ओर

टूटी खिड़कियां प्रोत्साहित करती हैं

तोड़ फोड़

  • White Facebook Icon
  • White Twitter Icon

© 2017 by Dr Purnendu Ghosh