हम दो हमारे दो

हम चार रहते थे एक फुटपाथ पर

हर रोज़ डंडा खाकर भी

चारो रोज़ लाते थे, खाते थे

बचा खुचा कुछ भी

लेकिन आज बचा खुचा भी न मिला

फुटपाथ खाली है

हमसे कहा गया है अपने अपने घर जाओ

लेकिन हमारा घर तो है यही फुटपाथ

कहा जाएं

डंडा मारने वाले से कहा अपना हाल

उसने कहा, सिर्फ आदेश मिला है डंडा मारने का

हम चल दिये खुशी खुशी

एक और फुटपाथ की तलाश में